देखें वीडियो: गौ-रक्षकों ने मुस्लिम व्यापारियों को किस कदर पीटा, ‘जय श्री राम’ के नारे लगवाए, बोले ‘अल्लाह’ का नाम नहीं लेना

देश में यह क्या हो रहा है कुछ लोग गौरक्षा के नाम पर कानून अपने हाथ में ले रहे हैं और खासतौर से कमजोर मुस्लिमों को निशाना बनाया जा रहा है इसके को नहीं कई उदाहरण है जिस में मुस्लिम समुदाय के लोगों को प्रताड़ित किया गया राजस्थान के पहलू खान का मामला लें तो उसमें साफ साफ वीडियो में कुछ लोग पहलू खान की पिटाई लगाते नजर आए थे जिसके कारण वह गंभीर रूप से घायल हो गए थे और उनकी मौत हो गई थी.

इस वीडियो में जो आप देख रहे हैं यह वीडियो ए एन आई न्यूज एजेंसी द्वारा अपने पेज पर और Facebook पर पर डाला गया है इसमें कथित गौरक्षक अपना आतंक दिखा रहे हैं और एक व्यापारी पर सामान की तलाशी लेने के बाद उसकी बेरहमी से पिटाई कर रहे हैं और साथ में यह भी कहते हैं अल्लाह का नाम मत लेना इसके अलावा उन्होंने उस मुस्लिम व्यापारी से ‘जय श्रीराम’ के नारे भी लगाए.

हालांकि पुलिस ने 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और इन पर आईपीसी की धारा के तहत मुकदमा किया गया लेकिन क्या इस तरह से किसी समुदाय विशेष को टारगेट करके इस तरह से मारना-पीटना कहां तक उचित है सरकार से समर्थन प्राप्त ये गुंडे कहीं भी किसी को पकड़ लेते हैं और कई बार रुपए पैसा ले कर लूटने के बाद लोगों को बख्शा जाता है.

सरकार ने अगर इन लोगों पर जल्द ही पर लगाम नहीं लगाई तो इनका आतंक बढ़ता चला जाएगा और धीरे-धीरे यह सरकार के लिए भी एक तरह के नासूर बन जाएंगे राज्य सरकारों को इस बारे में गंभीर चिंतन करना चाहिए कम से कम निर्दोष लोगों को इस तरह से न सताया जाय.

अभी तक जितने में अभी तक जितने भी मामले देखने में आए हैं इन लोगों ने घेरकर सिर्फ ऐसे निहत्थे लोगों को मारा है जो उनके खिलाफ आवाज भी नहीं उठा सकते मतलब के गरीब और मजलूम लोगों पर इनका अत्याचार देखने को मिलता है इन लोगों ने आज तक किसी भी दमदार आदमी पर हाथ नहीं डाला है यह केवल लाचार लोगों पर झुंड बनाकर हमला करते हैं.

और इन बेवकूफ लोगों को यह तक नहीं पता कि भारत में एक भी बड़ी कंपनी कोई भी मुस्लिम नहीं चलाता है जिसमें बीफ निर्यात किया जाता हो यह सब कंपनियां गैर मुस्लिम लोगों की है कभी गौरक्षकों ने उनके खिलाफ आवाज क्यों नहीं उठाई और सरकार भी उनको तकलीफ सब्सिडी देती है इस बारे में यह लोग सरकार से सवाल क्यों नहीं करते