GST रेट कम क्यों किया इसके पीछे सरकार की साजिश का खुलासा किया उद्धव ठाकरे ने

क्या आप जानते हैं के अचानक GST पर कड़ा रुख अपनाये रखने के बाद अचानक से क्यों GST में संसोधन किया गया है दरअसल इसके पीछे एक बहुत बड़ी राजनीती निकल कर सामने आये हैं और ये खुलासा किया है महाराष्ट्र के शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने.. देखें क्या चल चली हैं सरकार ने इस बार जनता का समर्थन प्राप्त करके के लिए.

आज की सरकार लोगों में असंतोष और विरोध के बाद अपने फैसले बदलने पर मजबूर हो रही है

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि वे अर्थशास्त्री नहीं हैं और जीएसटी पर सरकार के फैसले पर कोई प्रतिक्रिया तो नहीं दे सकते हैं हाँ इतना ज़रूर कहेंगे कि इससे पहले पावी सरकार सदैव अपने फैसलों पर अटल रहती थी. केन्द्र में भाजपा सरकार की सहयोगी पार्टी के प्रमुख ने मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोला और कहा है कि जीएसटी दरों में किया गया बदलाव कोई दिवाली गिफ्ट नहीं वल्की इसमें अभी कई और परिवर्तन की जरूरत है.

आपको यहाँ बताते चलें कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (7 अक्टूबर) को कहा कि इस बार दिवाली जल्दी आ गई है, क्योंकि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के नियमों में कुछ राहत मिलने से छोटे और मझोले व्यापारियों को लाभ होगा। शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा कि लोग अभी भी खुश नहीं हैं, पेट्रोल की कीमतें बढ़ी हैं, महंगाई अभी भी ज्यादा है.

उद्धव ठाकरे ने कहा कि जीएसटी दरों में किया गया बदलाव गुजरात चुनाव को ध्यान में रखते हुए किया गया है, क्योंकि बीजेपी सरकार को व्यापारियों के गुस्से का अंदेशा था। पत्रकारों से बात करते हुए केन्द्र में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना के अध्यक्ष ने कहा कि जीएसटी दरें घटाने के लिए केन्द्र सरकार को वे बधाई देते हैं लेकिन जो टैक्स बढ़े दरों पर वसूल कर लिया गया है क्या सरकार उसे वापस करेगी?

उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर सरकार जनहित में फैसले लेती है तो वे सरकार का साथ देंगे लेकिन अगर सरकार के फैसले जनता के खिलाफ रहे तो वे जनता का समर्थन करेंगे। उद्धव ठाकरे ने कहा कि अंतिम फैसला लेने का वक्त आ गया है। उन्होंने कहा कि वे लोग जनता की सेवा करने के लिए यहां हैं और आगे ऐसा करते रहेंगे.